Environment And Ecology For All Exams In Hindi

Environment And Ecology For All Exams In Hindi

 

 

Environment Fact for All Exams

 



 

Part -6

Environment And Ecology For Upsc In Hindi
Environment And Ecology For All Exams In Hindi

 

 

 

Environmental Education
Environment And Ecology For All Exams In Hindi
प्रश्न -1 – ” ऊष्मागतिकी ” का  प्रथम नियम क्या कहता है ?

 

Environment And Ecology For Upsc In Hindi
उत्तर – ” ऊष्मागतिकी ” के   प्रथम नियम के अनुसार – ऐसा द्रव्यमान तंत्र जो कि स्थिर होता है।  उसमे ऊर्जा का न सृजन होता है , और न विनाश होता है। अर्थात ऊर्जा का किसी एक रूप से किसी दूसरे रूप में परिवर्तन होता है। ” ऊष्मा गतिकी ” का नियम इसी बात को स्पस्ट करता है। 



प्रश्न – 2 – ” आहार श्रृंखला ” में कुल कितने पोषण स्तर होते है ?
उत्तर – आहार श्रृंखला में कुल चार प्रकार के पोषण स्तर होते है। 
प्रश्न – 3 – पोषण स्तर – 1  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?



Environment Essay

उत्तर – हरे – पौधे (उत्पादक )

 

प्रश्न – 4 – पोषण स्तर – 2  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
 
उत्तर – हाथी , गाय , बकरी , घोडा , ऊंट , जिराफ , भेड़ , हिरण , खरगोश  आदि आते है। 
प्रश्न – 5  पोषण स्तर – 3  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
उत्तर – बाघ , शेर ,चीता , छिपकली , मकड़ी , बाज़ , भालू  आदि आते है।
प्रश्न – 6 – पोषण स्तर – 4  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
उत्तर – ऐसे जीव -जन्तु जो कि सर्वाहारी होते है। अर्थात ऐसे जीव – जो कि शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार का भोजन करने में सक्षम होते है। अथवा उनका पाचन तंत्र दोनों प्रकार के भोजन को पचाने में शक्षम होता है। उन्हें हम –  पोषण स्तर – 4 के अंतरगर्त शामिल करते है। जैसे कि – मानव  आदि।




आयु

कैलोरी  ( प्रतिदिन की मात्रा )

10 – 12  वर्ष

2000 कैलोरी प्रतिदिन

12 – 14  वर्ष

2200 कैलोरी प्रतिदिन



14 – 16  वर्ष

2600 कैलोरी प्रतिदिन




16 – 18  वर्ष

3000 कैलोरी प्रतिदिन

18 – 66 वर्ष

2500 – 4000 कैलोरी प्रतिदिन

66 – 75  वर्ष

2300 कैलोरी प्रतिदिन

 

 

प्रश्न – 7 – ” सूक्ष्म जीवों ” को किस पोषण स्तर में शामिल किया जाता है ?

 

उत्तर – ” पोषण स्तर – 4 ” में।

 

प्रश्न – 8 – सूक्ष्म जीव – क्या होते है अर्थात ( शाकाहारी , मांसाहारी , सर्वाहारी ) ?

 

उत्तर – सर्वाहारी।

 

प्रश्न – 9 – आहार श्रृंखला में – ” 10 %  ऊर्जा का   नियम ”  का प्रतिपादन किसने किया था ?

उत्तर – जीव विज्ञानी – ” लिंडेमान ” ने।

 

प्रश्न – 10 –  आहार श्रृंखला में – ” 10 %  ऊर्जा  का   नियम ”  क्या है ?

 

उत्तर – आहार श्रृंखला में – 10 % नियम के अनुसार – जब किसी एक  ” पोषण – स्तर ” से किसी दूसरे ” पोषण – स्तर ”  में ऊर्जा स्थान्तरित होती है , तो स्थान्तरण की मात्रा -10 प्रतिशत ऊर्जा से अधिक नहीं हो सकती है।जिससे ऊर्जा 10 प्रतिशत के हिसाब से कम होकर आगे स्थांतरित होती है।  और पोषण स्तर – 1 से पोषण स्तर – 4   तक यही क्रम चलता रहता है।

प्रश्न – 11 – भूमिगत जल को दूषित करने वाले ” अजैविक प्रदूषक तत्व ” क्या कहलाते है ?
उत्तर – आर्सेनिक। 
 
प्रश्न – 12 – पृथ्वी पर पेड़ – पोधों  समाप्त  होने से किस गैस की कमी हो जाएगी ?
उत्तर – ऑक्सीजन गैस की। 
प्रश्न – 13 – जल प्रदूषण का सबसे अच्छा सूचक कौन है ?



उत्तर – ” लाईकेन्स “
प्रश्न – 14 – जल को शुद्ध  करने में अल्ट्रवॉयलेट (uv ) का क्या कार्य है ?
उत्तर – अल्ट्रवॉयलेट (uv ) जल में मौजूद ऐसे सूक्ष्म जीव ” जो कि हमारे स्वास्थय को हानि पहुंचा सकते है ” को निष्क्रिय कर देती है।  जिसे जल शुद्ध हो जाता है।
प्रश्न – 15 – यदि हम सतह से ऊंचाई की ओर जाए तो तापमान कम हो जाता है , इसका क्या कारण है ?
उत्तर – ऊंचाई पर हवा कम घनी होती है।

प्रश्न – 16 – ” क्षोभमंडल ” में किस प्रकार की मौसमी घटनाएं होती ?

उत्तर – क्षोभमंडल में निम्न प्रकार की मौसमी घटनाएं होती है।
(i)  बादल का बनना।
(ii) चक्रवात
 (iii)  तूफ़ान।

प्रश्न -17 – ” ऊष्मा बजट ‘ किसे कहते है ?



उत्तर – जब पृथ्वी  का तापमान सूर्य के ताप को  एक सामान  संतुलित रखता है , तो ” ऊष्मा बजट ‘ कहलाता है। 
प्रश्न – 18 – ” तापमान विसंगति ” किसे कहते है ?

 

 

उत्तर – किसी जगह  के  अक्षांश के औसत तापमान और  वही  के औसत तापमान  के मध्य का जो अंतर पाया जाता है , वो – ” तापमान विसंगति ” कहलाता है।

प्रश्न -19 – जैवमंडल क्या है ?
उत्तर – जब किसी भौगोलिक क्षेत्र में – सभी प्रकार के पारिस्थितिकी तंत्र मिलकर एक युनिट का निर्माण करते है , तो  ” जैवमण्डल ” कहलाता है।
प्रश्न – 20 – ” विटामिन A ” के स्रोत कौन – कौन  से है ?
उत्तर – मछली , तेल , दूध , मक्खन , घी , गाजर , हरी – सब्जियाँ  आदि।



प्रश्न -21 – विटामिन A की कमी से उत्पन्न होने वाले रोगो का नाम क्या है ?

उत्तर – रतौंधी , शाररिक वृद्धि रुकना , सक्रामक रोग आदि।
प्रश्न – 22 – विटामिन A का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – ” रेटिनॉल “
प्रश्न -23 – विटामिन B1 के स्रोत क्या है ?
उत्तर – अंकुरित गेंहू , फल , सब्जी , मांस , अण्डा , खमीर आदि।
प्रश्न -24 – विटामिन B1 की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – बेरी – बेरी
प्रश्न – 25 – ” बेरी – बेरी ” रोग का प्रमुख लक्षण क्या है ?
उत्तर – ” अस्थियों का मुलायम होकर मुड़ना। “



प्रश्न – 26 – विटामिन B1  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – थायमिन।

प्रश्न – 27 – विटामिन B2  स्रोत कौन  से है ?

उत्तर – दूध , मांस , हरी – सब्जियां , पत्तेदार सब्जियां।
प्रश्न – 28 – विटामिन B2 की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर- जीभ में सूजन , त्वचा में सूजन , स्पस्ट दिखाई न देना।
प्रश्न – 29 – विटामिन B2   का रासयनिक नाम क्या है ?



उत्तर – राइबोफ़्लेवीन।
प्रश्न – 30 – विटामिन B7   का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – निकोटिन अम्ल या नायसीन।
प्रश्न – 31 – विटामिन B7  की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – प्लेग्रा।

प्रश्न – 32 – विटामिन B7   स्रोत कौन  से है ?

उत्तर – मछली , अण्डे।
प्रश्न – 33 – विटामिन B12    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – यकृत।
प्रश्न – 34 – विटामिन B12   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – अरक्तता ( खून की कमी होना। )
प्रश्न – 35 – विटामिन B12    का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – साइनोकोबाल्मिन।
प्रश्न – 36 – विटामिन  “C ” का रासयनिक नाम क्या है ?



उत्तर – एस्कार्बिक अम्ल।
प्रश्न – 38 – विटामिन  ” C ”    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – नींबू , आंवला , संतरा , हरी – सब्जियाँ आदि।
प्रश्न – 39 – विटामिन  ” C ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – स्कर्वी।
प्रश्न – 40 – विटामिन  ” D ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?



उत्तर – ” रिकेट्स ‘
प्रश्न – 41 – विटामिन  ” D ”    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – मछली , तेल , अंडा , यकृत , परबैगनी किरण , सलाद आदि।
प्रश्न – 42 – विटामिन ” D ”  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – केल्सीफेरॉल।
प्रश्न – 43 – विटामिन ” E ”  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – टोकोफेरॉल।
प्रश्न – 44 –  विटामिन ” E ”     स्रोत कौन  से है ?



उत्तर – सलाद , पत्तियां , शिवीं फल , सेम , मटर आदि।

प्रश्न – 45 – विटामिन  ” E ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?

उत्तर – मांस-पेशियों सम्बंधित समस्या , अथवा तंत्रिका सम्बन्धी समस्या।

प्रश्न – 46 – आयु के अनुसार – ” प्रतिदिन कैलोरी ” किंतनी ली जाए का विवरण दीजिये ?

प्रश्न – 47 – ” एजेण्डा -21 ” का प्रमुख उद्देस्य क्या है ?

 

उत्तर – इसके तहत प्रत्येक – स्थानीय निकायों को अपना एजेंडा – 21 को तैयार करना होता है। जिसमे – विभिन्न प्रकार के मुद्दों को बल दिया जाता है , जैसे कि – पर्यावरण क्षति को रोकने का प्रयास , गरीबी , रोगों के लिए उपाय , सभी की आवश्यकताओं हेतु कार्य आदि विभिन्न प्रकार के मुद्दों को बल दिया जाता है।



 

 

प्रश्न – 48 – कृषि की दृस्टि से भारत के प्रदेशों  जैसे कि –  अरुणाचल प्रदेश , मिजोरम , मणिपुर और अंडमान – निकोबार द्धीप समूह में कितने  प्रतिशत क्षेत्र बोया जाता है ?

 

उत्तर – लगभग – 10 % प्रतिशत।

प्रश्न – 49 – पंजाब और हरियाणा में लगभग कितने प्रतिशत भूमि पर कृषि क्षेत्र है ?

 

उत्तर – लगभग 80 % प्रतिशत।

 

प्रश्न – 50 –  व्यक्तिगत संसाधन कौन से संसाधन होते है ?

उत्तर –  व्यक्तिगत संसाधन वे संसाधन होते है।



 जिन पर किसी व्यक्ति विशेष  का स्वामित्व होता है। 
उदहारण  के लिए  –  बाग़   ,   तालाब , कुएँ  ।

प्रश्न – 51 – सामुदायिक संसाधन कौन से संसाधन होते है ?
उत्तर –   ऐसे संसाधन जो  ” समुदाय ”  के सभी सदस्यों को उपलब्ध हों , सामुदायिक संसाधन  कहलाते हैं। 
 उदहारण  के लिए  – तालाब  , शमशान भूमि , सार्वजानिक मैदान आदि 丨 



प्रश्न – 52 – राष्ट्रीय संसाधन क्या है ?
उत्तर – ऐसे संसाधन जो किसी देश में  पाए जाते है । वे  वहां के लिए “राष्ट्रीय संसाधन” कहलाते है। अर्थात  देश में पाए जाने वाले वे सभी संसाधन  राष्ट्रीय संसाधन  है।जैसे कि – हमारे देश में पाए जाने वाले  सभी पदार्थ , जल संसाधन , वन , वन्य-जीवन , 12 समुद्री मील (19. 2 km ) तक का महासागरीय क्षेत्र और इनमे पाए जाने वाले संसाधन आदि  “राष्ट्रीय संसाधन ” है丨  
                                           

प्रश्न – 53 – अंतर्राष्ट्रीय संसाधन क्या है ?

उत्तर –   ऐसे संसाधन जो  “तट रेखा ” से 200 कि. मी. महासागर में है  और  इन पर किसी भी देश का अधिकार नहीं है । वे “अंतरराष्ट्रीय संसाधन” है丨इन संसाधनों का उपयोग ” अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं  ” की सहमति के बिना नहीं किया जा सकता है丨इसी सन्दर्भ में भारत को यह अधिकार है कि वह ” हिन्द महासागर ” की तलहटी से  ” मैगनीज  ” की ग्रथियों का खनन कर सकता है । इसका संपूण अधिकार भारत के पास है ।    
 

प्रश्न – 54 – सम्भावी संसाधन कौन से संसाधन होते है ?




 उत्तर – सम्भावी संसाधन वे संसाधन होते है , जो किसी क्षेत्र  अथवा  प्रदेश  में विधमान है।  परन्तु उनका उपयोग नहीं किया जा सकता है । साथ ही जिनका भविष्य में उपयोग करने की सम्भावना हैं । तो ऐसे संसाधन  उस क्षेत्र या  प्रदेश  विशेष के ” सम्भावी संसाधन” कहलाते है। 


प्रश्न – 55 – विकसित संसाधन कौन से संसाधन होते है ?


उत्तर – विकसित संसाधन के निम्न लिखित गुण है। 


➨ जिनका सर्वेक्षण  हो चुका है 




 जिनके उपयोग की गुणवत्ता निर्धारित हो चुकी है। 


 जिनकी मात्रा निर्धारित हो चुकी है ।


  जो  संसाधन उपयोग में है  ।




प्रश्न – 56 – भण्डार क्या होते है ?

उत्तर –  हमारे पर्यावरण में उपलब्ध वे सभी पदार्थ जो मानव की आवश्यकता की पूर्ति कर सकते है। 
परन्तु  “विज्ञान की तकनीक ” उन्हें प्राप्त करने में असमर्थ है , ऐसे पदार्थ ” भण्डार ” में आते है।  अर्थात ऐसे संसाधन जो कि हमारे विज्ञान और उनकी तकनीकों की पहुंच से दूर है , ” भण्डार ” कहलाते है ।


प्रश्न – 57 – संचित कोष किसे कहते है ?


उत्तर –   ऐसे संसाधन जिनका प्रयोग  तो  किया जा सकता है ,परन्तु इनका प्रयोग अभी आरम्भ  हुआ है 丨इन संशाधनो का प्रयोग ” भविष्य ” के लिए  रखा गया है , अतः ये  ” संचित कोष “कहलाते है  अर्थात ऐसे संसाधन जिन्हे हम वर्तमान में मौजूद  अपने विज्ञान और तकनीक द्वारा प्रयोग में ला तो  सकते है , परन्तु इनका प्रयोग करना हमने अभी तक प्रारम्भ नहीं किया , कियोकि इन संशाधनो को हमने भविष्य में प्रयोग करने हेतु रखा है । अतः इस  प्रकार के संसाधन ” संचित कोष ” कहलाते है ।


प्रश्न – 58 – जलोढ़ मृदा क्या है ?


paryavaran paristhitiki
paryavaran paristhitiki
 

 

 



उत्तर – यह हमारे देश की एक महत्वपूर्ण ” मृदा ” है I ये हिमालय की तीन प्रमुख नदियों  सिंधु , गंगा , ब्रह्मपुत्र से बनी  है丨ये बहुत उपजाऊ मृदा है। 


प्रश्न – 59 – जलोढ़ मृदा में क्या पाया जाता है ?


उत्तर – जलोढ़ मृदा में  – पोटास , फास्फोरस , चूना आदि  पाया जाता है ।

प्रश्न – 60 – जलोढ़ मृदा कितने प्रकार की होती है ?

उत्तर – जलोढ़ मृदा दो प्रकार की होती है।

 

➨ पुराना जलोढ़ 


  नया जलोढ़


प्रश्न 61 – पुराने जलोढ़ में किसकी मात्रा अत्यधिक रूप से  पायी जाती है ?


उत्तर –  पुराना जलोढ़  में  ” ककर ग्रंथियों ” की मात्रा अधिक होती है   ।                 


प्रश्न – 62 – पुराना जलोढ़ क्या कहलाती है ?




उत्तर – पुराना जलोढ़ – बांगर – कहलाती ह। 


प्रश्न – 63 –  नया जलोढ़ क्या कहलाती है ?


उत्तर – नया जलोढ़ “खादर ” कहलाती है। 


प्रश्न -64 – जलोढ़ मृदा में मुख्य रूप से कौन सी फसल की पैदावार की जाती है ?


उत्तर – जलोढ़ मृदा में मुख्य रूप से  गन्ने , चावल , गेहू , तथा दलहन फसलों की खेती होती है 丨     

प्रश्न – 65 – ” काली मृदा ” किस फसल के लिए सबसे उपयुक्त मानी जाती है ?

 

environment study in hindi
environment study in hindi
उत्तर – काली मृदा  ” कपास की खेती ” हेतु सबसे उपयुक्त मानी जाती है।  


प्रश्न – 66 – ” काली मृदा ” को हम  अन्य किस नाम से जानते है ?


उत्तर – ” कपास की मृदा “


प्रश्न – 67 – भारत में मुख्य रूप से काली मृदा किन क्षेत्रों में अत्यधिक पायी जाती है ? नाम बताइये। 


उत्तर – भारत में काली मृदा निम्न क्षेत्रों में पायी जाती है। 


1- महाराष्ट्र के क्षेत्रों में .- 

 

2-  सौरास्ट्र के क्षेत्रों में


3- मालवा के क्षेत्रों में, 


4- मध्यप्रदेश  एवं छत्तीसगढ़ के पठारों में 




 

प्रश्न – 68 – काली मृदा की क्या विशेषताएं है ?

 

उत्तर – काली मृदा की विभिन्न विशेषताए है , इनमे से कुछ इस प्रकार है।

1-  इसमें अन्य मृदाओ की अपेक्षा  नमी को धारण करने की क्षमता बहुत अधिक होती है।  

2- इस  मृदा में कैल्शियम कार्बोनेट , मैग्नीशियम , पोटास , चूना आदि तत्व पाए जाते है । 

 3-   इसे ” रेगुर ” भी कहते है।

 
प्रश्न – 69 – लाल मृदा किन स्थानों पर विकसित  है ?
उत्तर -लाल मृदा एक ऎसी मृदा है , जिसका रंग पूरी तरह ” लाल ” होता है । यह मृदा मुख्य रूप से  ऐसे स्थान जहां वर्षा कम होती है , वहां विकसित होती  है ।
प्रश्न – 70 – लाल मिटटी की किन तत्वों की अधिकता होती  है ?
उत्तर –  लोहा , एलुमिनियम , चूना आदि की।
प्रश्न – 71 – भारत के किन प्रदेशो में यह मिटटी पायी जाती है ?
उत्तर – मध्यप्रदेश , छतीसगढ़ , झारखंड , पश्चिम – बंगाल , मेघालय , नागालैंड , उत्तरप्रदेश , राजस्थान , तमिलनाडु , महाराष्ट्र आदि प्रदेशो में पायी जाती है।
प्रश्न – 72 – ” लाल मिटटी ” किन फसलों के लिए सर्वाधिक उपयुक्त होती है ?



उत्तर – कपास , गेहूं , दाल , अनाज , आदि के लिए उपयुक्त होती है।

प्रश्न – 73  – दक्कन के पठार के किन हिस्सों पर यह मृदा विकसित हुई है ?

 

उत्तर –   ” दक्कन के पठार ” में पूर्वी हिस्से और दक्षिणी हिस्से आते है , जहां ये  ” लाल मृदा ” विकसित हुई है। ।

 
error: Content is protected !!