Environment And Ecology For All Exams In Hindi - studysupport.in

Environment And Ecology For All Exams In Hindi

Environment And Ecology For All Exams In Hindi

 

 

Environment Fact for All Exams

 



 

Part -6

Environment And Ecology For Upsc In Hindi
Environment And Ecology For All Exams In Hindi

 

 

 

Environmental Education
Environment And Ecology For All Exams In Hindi
प्रश्न -1 – ” ऊष्मागतिकी ” का  प्रथम नियम क्या कहता है ?

 

Environment And Ecology For Upsc In Hindi
उत्तर – ” ऊष्मागतिकी ” के   प्रथम नियम के अनुसार – ऐसा द्रव्यमान तंत्र जो कि स्थिर होता है।  उसमे ऊर्जा का न सृजन होता है , और न विनाश होता है। अर्थात ऊर्जा का किसी एक रूप से किसी दूसरे रूप में परिवर्तन होता है। ” ऊष्मा गतिकी ” का नियम इसी बात को स्पस्ट करता है। 



प्रश्न – 2 – ” आहार श्रृंखला ” में कुल कितने पोषण स्तर होते है ?
उत्तर – आहार श्रृंखला में कुल चार प्रकार के पोषण स्तर होते है। 
प्रश्न – 3 – पोषण स्तर – 1  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?



Environment Essay

उत्तर – हरे – पौधे (उत्पादक )

 

प्रश्न – 4 – पोषण स्तर – 2  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
 
उत्तर – हाथी , गाय , बकरी , घोडा , ऊंट , जिराफ , भेड़ , हिरण , खरगोश  आदि आते है। 
प्रश्न – 5  पोषण स्तर – 3  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
उत्तर – बाघ , शेर ,चीता , छिपकली , मकड़ी , बाज़ , भालू  आदि आते है।
प्रश्न – 6 – पोषण स्तर – 4  के अंतरगर्त कौन आता है , नाम बताइये ?
उत्तर – ऐसे जीव -जन्तु जो कि सर्वाहारी होते है। अर्थात ऐसे जीव – जो कि शाकाहारी और मांसाहारी दोनों प्रकार का भोजन करने में सक्षम होते है। अथवा उनका पाचन तंत्र दोनों प्रकार के भोजन को पचाने में शक्षम होता है। उन्हें हम –  पोषण स्तर – 4 के अंतरगर्त शामिल करते है। जैसे कि – मानव  आदि।




आयु

कैलोरी  ( प्रतिदिन की मात्रा )

10 – 12  वर्ष

2000 कैलोरी प्रतिदिन

12 – 14  वर्ष

2200 कैलोरी प्रतिदिन



14 – 16  वर्ष

2600 कैलोरी प्रतिदिन




16 – 18  वर्ष

3000 कैलोरी प्रतिदिन

18 – 66 वर्ष

2500 – 4000 कैलोरी प्रतिदिन

66 – 75  वर्ष

2300 कैलोरी प्रतिदिन

 

 

प्रश्न – 7 – ” सूक्ष्म जीवों ” को किस पोषण स्तर में शामिल किया जाता है ?

 

उत्तर – ” पोषण स्तर – 4 ” में।

 

प्रश्न – 8 – सूक्ष्म जीव – क्या होते है अर्थात ( शाकाहारी , मांसाहारी , सर्वाहारी ) ?

 

उत्तर – सर्वाहारी।

 

प्रश्न – 9 – आहार श्रृंखला में – ” 10 %  ऊर्जा का   नियम ”  का प्रतिपादन किसने किया था ?

उत्तर – जीव विज्ञानी – ” लिंडेमान ” ने।

 

प्रश्न – 10 –  आहार श्रृंखला में – ” 10 %  ऊर्जा  का   नियम ”  क्या है ?

 

उत्तर – आहार श्रृंखला में – 10 % नियम के अनुसार – जब किसी एक  ” पोषण – स्तर ” से किसी दूसरे ” पोषण – स्तर ”  में ऊर्जा स्थान्तरित होती है , तो स्थान्तरण की मात्रा -10 प्रतिशत ऊर्जा से अधिक नहीं हो सकती है।जिससे ऊर्जा 10 प्रतिशत के हिसाब से कम होकर आगे स्थांतरित होती है।  और पोषण स्तर – 1 से पोषण स्तर – 4   तक यही क्रम चलता रहता है।

प्रश्न – 11 – भूमिगत जल को दूषित करने वाले ” अजैविक प्रदूषक तत्व ” क्या कहलाते है ?
उत्तर – आर्सेनिक। 
 
प्रश्न – 12 – पृथ्वी पर पेड़ – पोधों  समाप्त  होने से किस गैस की कमी हो जाएगी ?
उत्तर – ऑक्सीजन गैस की। 
प्रश्न – 13 – जल प्रदूषण का सबसे अच्छा सूचक कौन है ?



उत्तर – ” लाईकेन्स “
प्रश्न – 14 – जल को शुद्ध  करने में अल्ट्रवॉयलेट (uv ) का क्या कार्य है ?
उत्तर – अल्ट्रवॉयलेट (uv ) जल में मौजूद ऐसे सूक्ष्म जीव ” जो कि हमारे स्वास्थय को हानि पहुंचा सकते है ” को निष्क्रिय कर देती है।  जिसे जल शुद्ध हो जाता है।
प्रश्न – 15 – यदि हम सतह से ऊंचाई की ओर जाए तो तापमान कम हो जाता है , इसका क्या कारण है ?
उत्तर – ऊंचाई पर हवा कम घनी होती है।

प्रश्न – 16 – ” क्षोभमंडल ” में किस प्रकार की मौसमी घटनाएं होती ?

उत्तर – क्षोभमंडल में निम्न प्रकार की मौसमी घटनाएं होती है।
(i)  बादल का बनना।
(ii) चक्रवात
 (iii)  तूफ़ान।

प्रश्न -17 – ” ऊष्मा बजट ‘ किसे कहते है ?



उत्तर – जब पृथ्वी  का तापमान सूर्य के ताप को  एक सामान  संतुलित रखता है , तो ” ऊष्मा बजट ‘ कहलाता है। 
प्रश्न – 18 – ” तापमान विसंगति ” किसे कहते है ?

 

 

उत्तर – किसी जगह  के  अक्षांश के औसत तापमान और  वही  के औसत तापमान  के मध्य का जो अंतर पाया जाता है , वो – ” तापमान विसंगति ” कहलाता है।

प्रश्न -19 – जैवमंडल क्या है ?
उत्तर – जब किसी भौगोलिक क्षेत्र में – सभी प्रकार के पारिस्थितिकी तंत्र मिलकर एक युनिट का निर्माण करते है , तो  ” जैवमण्डल ” कहलाता है।
प्रश्न – 20 – ” विटामिन A ” के स्रोत कौन – कौन  से है ?
उत्तर – मछली , तेल , दूध , मक्खन , घी , गाजर , हरी – सब्जियाँ  आदि।



प्रश्न -21 – विटामिन A की कमी से उत्पन्न होने वाले रोगो का नाम क्या है ?

उत्तर – रतौंधी , शाररिक वृद्धि रुकना , सक्रामक रोग आदि।
प्रश्न – 22 – विटामिन A का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – ” रेटिनॉल “
प्रश्न -23 – विटामिन B1 के स्रोत क्या है ?
उत्तर – अंकुरित गेंहू , फल , सब्जी , मांस , अण्डा , खमीर आदि।
प्रश्न -24 – विटामिन B1 की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – बेरी – बेरी
प्रश्न – 25 – ” बेरी – बेरी ” रोग का प्रमुख लक्षण क्या है ?
उत्तर – ” अस्थियों का मुलायम होकर मुड़ना। “



प्रश्न – 26 – विटामिन B1  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – थायमिन।

प्रश्न – 27 – विटामिन B2  स्रोत कौन  से है ?

उत्तर – दूध , मांस , हरी – सब्जियां , पत्तेदार सब्जियां।
प्रश्न – 28 – विटामिन B2 की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर- जीभ में सूजन , त्वचा में सूजन , स्पस्ट दिखाई न देना।
प्रश्न – 29 – विटामिन B2   का रासयनिक नाम क्या है ?



उत्तर – राइबोफ़्लेवीन।
प्रश्न – 30 – विटामिन B7   का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – निकोटिन अम्ल या नायसीन।
प्रश्न – 31 – विटामिन B7  की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – प्लेग्रा।

प्रश्न – 32 – विटामिन B7   स्रोत कौन  से है ?

उत्तर – मछली , अण्डे।
प्रश्न – 33 – विटामिन B12    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – यकृत।
प्रश्न – 34 – विटामिन B12   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – अरक्तता ( खून की कमी होना। )
प्रश्न – 35 – विटामिन B12    का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – साइनोकोबाल्मिन।
प्रश्न – 36 – विटामिन  “C ” का रासयनिक नाम क्या है ?



उत्तर – एस्कार्बिक अम्ल।
प्रश्न – 38 – विटामिन  ” C ”    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – नींबू , आंवला , संतरा , हरी – सब्जियाँ आदि।
प्रश्न – 39 – विटामिन  ” C ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?
उत्तर – स्कर्वी।
प्रश्न – 40 – विटामिन  ” D ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?



उत्तर – ” रिकेट्स ‘
प्रश्न – 41 – विटामिन  ” D ”    स्रोत कौन  से है ?
उत्तर – मछली , तेल , अंडा , यकृत , परबैगनी किरण , सलाद आदि।
प्रश्न – 42 – विटामिन ” D ”  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – केल्सीफेरॉल।
प्रश्न – 43 – विटामिन ” E ”  का रासयनिक नाम क्या है ?
उत्तर – टोकोफेरॉल।
प्रश्न – 44 –  विटामिन ” E ”     स्रोत कौन  से है ?



उत्तर – सलाद , पत्तियां , शिवीं फल , सेम , मटर आदि।

प्रश्न – 45 – विटामिन  ” E ”   की कमी से उत्पन्न होने वाले रोंगो के नाम बताइये ?

उत्तर – मांस-पेशियों सम्बंधित समस्या , अथवा तंत्रिका सम्बन्धी समस्या।

प्रश्न – 46 – आयु के अनुसार – ” प्रतिदिन कैलोरी ” किंतनी ली जाए का विवरण दीजिये ?

प्रश्न – 47 – ” एजेण्डा -21 ” का प्रमुख उद्देस्य क्या है ?

 

उत्तर – इसके तहत प्रत्येक – स्थानीय निकायों को अपना एजेंडा – 21 को तैयार करना होता है। जिसमे – विभिन्न प्रकार के मुद्दों को बल दिया जाता है , जैसे कि – पर्यावरण क्षति को रोकने का प्रयास , गरीबी , रोगों के लिए उपाय , सभी की आवश्यकताओं हेतु कार्य आदि विभिन्न प्रकार के मुद्दों को बल दिया जाता है।



 

 

प्रश्न – 48 – कृषि की दृस्टि से भारत के प्रदेशों  जैसे कि –  अरुणाचल प्रदेश , मिजोरम , मणिपुर और अंडमान – निकोबार द्धीप समूह में कितने  प्रतिशत क्षेत्र बोया जाता है ?

 

उत्तर – लगभग – 10 % प्रतिशत।

प्रश्न – 49 – पंजाब और हरियाणा में लगभग कितने प्रतिशत भूमि पर कृषि क्षेत्र है ?

 

उत्तर – लगभग 80 % प्रतिशत।

 

प्रश्न – 50 –  व्यक्तिगत संसाधन कौन से संसाधन होते है ?

उत्तर –  व्यक्तिगत संसाधन वे संसाधन होते है।



 जिन पर किसी व्यक्ति विशेष  का स्वामित्व होता है। 
उदहारण  के लिए  –  बाग़   ,   तालाब , कुएँ  ।

प्रश्न – 51 – सामुदायिक संसाधन कौन से संसाधन होते है ?
उत्तर –   ऐसे संसाधन जो  ” समुदाय ”  के सभी सदस्यों को उपलब्ध हों , सामुदायिक संसाधन  कहलाते हैं। 
 उदहारण  के लिए  – तालाब  , शमशान भूमि , सार्वजानिक मैदान आदि 丨 



प्रश्न – 52 – राष्ट्रीय संसाधन क्या है ?
उत्तर – ऐसे संसाधन जो किसी देश में  पाए जाते है । वे  वहां के लिए “राष्ट्रीय संसाधन” कहलाते है। अर्थात  देश में पाए जाने वाले वे सभी संसाधन  राष्ट्रीय संसाधन  है।जैसे कि – हमारे देश में पाए जाने वाले  सभी पदार्थ , जल संसाधन , वन , वन्य-जीवन , 12 समुद्री मील (19. 2 km ) तक का महासागरीय क्षेत्र और इनमे पाए जाने वाले संसाधन आदि  “राष्ट्रीय संसाधन ” है丨  
                                           

प्रश्न – 53 – अंतर्राष्ट्रीय संसाधन क्या है ?

उत्तर –   ऐसे संसाधन जो  “तट रेखा ” से 200 कि. मी. महासागर में है  और  इन पर किसी भी देश का अधिकार नहीं है । वे “अंतरराष्ट्रीय संसाधन” है丨इन संसाधनों का उपयोग ” अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं  ” की सहमति के बिना नहीं किया जा सकता है丨इसी सन्दर्भ में भारत को यह अधिकार है कि वह ” हिन्द महासागर ” की तलहटी से  ” मैगनीज  ” की ग्रथियों का खनन कर सकता है । इसका संपूण अधिकार भारत के पास है ।    
 

प्रश्न – 54 – सम्भावी संसाधन कौन से संसाधन होते है ?




 उत्तर – सम्भावी संसाधन वे संसाधन होते है , जो किसी क्षेत्र  अथवा  प्रदेश  में विधमान है।  परन्तु उनका उपयोग नहीं किया जा सकता है । साथ ही जिनका भविष्य में उपयोग करने की सम्भावना हैं । तो ऐसे संसाधन  उस क्षेत्र या  प्रदेश  विशेष के ” सम्भावी संसाधन” कहलाते है। 


प्रश्न – 55 – विकसित संसाधन कौन से संसाधन होते है ?


उत्तर – विकसित संसाधन के निम्न लिखित गुण है। 


➨ जिनका सर्वेक्षण  हो चुका है 




 जिनके उपयोग की गुणवत्ता निर्धारित हो चुकी है। 


 जिनकी मात्रा निर्धारित हो चुकी है ।


  जो  संसाधन उपयोग में है  ।




प्रश्न – 56 – भण्डार क्या होते है ?

उत्तर –  हमारे पर्यावरण में उपलब्ध वे सभी पदार्थ जो मानव की आवश्यकता की पूर्ति कर सकते है। 
परन्तु  “विज्ञान की तकनीक ” उन्हें प्राप्त करने में असमर्थ है , ऐसे पदार्थ ” भण्डार ” में आते है।  अर्थात ऐसे संसाधन जो कि हमारे विज्ञान और उनकी तकनीकों की पहुंच से दूर है , ” भण्डार ” कहलाते है ।


प्रश्न – 57 – संचित कोष किसे कहते है ?


उत्तर –   ऐसे संसाधन जिनका प्रयोग  तो  किया जा सकता है ,परन्तु इनका प्रयोग अभी आरम्भ  हुआ है 丨इन संशाधनो का प्रयोग ” भविष्य ” के लिए  रखा गया है , अतः ये  ” संचित कोष “कहलाते है  अर्थात ऐसे संसाधन जिन्हे हम वर्तमान में मौजूद  अपने विज्ञान और तकनीक द्वारा प्रयोग में ला तो  सकते है , परन्तु इनका प्रयोग करना हमने अभी तक प्रारम्भ नहीं किया , कियोकि इन संशाधनो को हमने भविष्य में प्रयोग करने हेतु रखा है । अतः इस  प्रकार के संसाधन ” संचित कोष ” कहलाते है ।


प्रश्न – 58 – जलोढ़ मृदा क्या है ?


paryavaran paristhitiki
paryavaran paristhitiki
 

 

 



उत्तर – यह हमारे देश की एक महत्वपूर्ण ” मृदा ” है I ये हिमालय की तीन प्रमुख नदियों  सिंधु , गंगा , ब्रह्मपुत्र से बनी  है丨ये बहुत उपजाऊ मृदा है। 


प्रश्न – 59 – जलोढ़ मृदा में क्या पाया जाता है ?


उत्तर – जलोढ़ मृदा में  – पोटास , फास्फोरस , चूना आदि  पाया जाता है ।

प्रश्न – 60 – जलोढ़ मृदा कितने प्रकार की होती है ?

उत्तर – जलोढ़ मृदा दो प्रकार की होती है।

 

➨ पुराना जलोढ़ 


  नया जलोढ़


प्रश्न 61 – पुराने जलोढ़ में किसकी मात्रा अत्यधिक रूप से  पायी जाती है ?


उत्तर –  पुराना जलोढ़  में  ” ककर ग्रंथियों ” की मात्रा अधिक होती है   ।                 


प्रश्न – 62 – पुराना जलोढ़ क्या कहलाती है ?




उत्तर – पुराना जलोढ़ – बांगर – कहलाती ह। 


प्रश्न – 63 –  नया जलोढ़ क्या कहलाती है ?


उत्तर – नया जलोढ़ “खादर ” कहलाती है। 


प्रश्न -64 – जलोढ़ मृदा में मुख्य रूप से कौन सी फसल की पैदावार की जाती है ?


उत्तर – जलोढ़ मृदा में मुख्य रूप से  गन्ने , चावल , गेहू , तथा दलहन फसलों की खेती होती है 丨     

प्रश्न – 65 – ” काली मृदा ” किस फसल के लिए सबसे उपयुक्त मानी जाती है ?

 

environment study in hindi
environment study in hindi
उत्तर – काली मृदा  ” कपास की खेती ” हेतु सबसे उपयुक्त मानी जाती है।  


प्रश्न – 66 – ” काली मृदा ” को हम  अन्य किस नाम से जानते है ?


उत्तर – ” कपास की मृदा “


प्रश्न – 67 – भारत में मुख्य रूप से काली मृदा किन क्षेत्रों में अत्यधिक पायी जाती है ? नाम बताइये। 


उत्तर – भारत में काली मृदा निम्न क्षेत्रों में पायी जाती है। 


1- महाराष्ट्र के क्षेत्रों में .- 

 

2-  सौरास्ट्र के क्षेत्रों में


3- मालवा के क्षेत्रों में, 


4- मध्यप्रदेश  एवं छत्तीसगढ़ के पठारों में 




 

प्रश्न – 68 – काली मृदा की क्या विशेषताएं है ?

 

उत्तर – काली मृदा की विभिन्न विशेषताए है , इनमे से कुछ इस प्रकार है।

1-  इसमें अन्य मृदाओ की अपेक्षा  नमी को धारण करने की क्षमता बहुत अधिक होती है।  

2- इस  मृदा में कैल्शियम कार्बोनेट , मैग्नीशियम , पोटास , चूना आदि तत्व पाए जाते है । 

 3-   इसे ” रेगुर ” भी कहते है।

 
प्रश्न – 69 – लाल मृदा किन स्थानों पर विकसित  है ?
उत्तर -लाल मृदा एक ऎसी मृदा है , जिसका रंग पूरी तरह ” लाल ” होता है । यह मृदा मुख्य रूप से  ऐसे स्थान जहां वर्षा कम होती है , वहां विकसित होती  है ।
प्रश्न – 70 – लाल मिटटी की किन तत्वों की अधिकता होती  है ?
उत्तर –  लोहा , एलुमिनियम , चूना आदि की।
प्रश्न – 71 – भारत के किन प्रदेशो में यह मिटटी पायी जाती है ?
उत्तर – मध्यप्रदेश , छतीसगढ़ , झारखंड , पश्चिम – बंगाल , मेघालय , नागालैंड , उत्तरप्रदेश , राजस्थान , तमिलनाडु , महाराष्ट्र आदि प्रदेशो में पायी जाती है।
प्रश्न – 72 – ” लाल मिटटी ” किन फसलों के लिए सर्वाधिक उपयुक्त होती है ?



उत्तर – कपास , गेहूं , दाल , अनाज , आदि के लिए उपयुक्त होती है।

प्रश्न – 73  – दक्कन के पठार के किन हिस्सों पर यह मृदा विकसित हुई है ?

 

उत्तर –   ” दक्कन के पठार ” में पूर्वी हिस्से और दक्षिणी हिस्से आते है , जहां ये  ” लाल मृदा ” विकसित हुई है। ।

 
error: Content is protected !!
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro