maths pedagogy / bal vikas or shiksha shastra pdf notes in Hindi

Maths pedagogy / bal vikas or shiksha shastra pdf notes in Hindi

 

 

maths pedagogy/ vikas pdf  Test in Hindi for All Exams ,Ctet/mptet/uptet/Rtet

 

 

maths pedagogy for ctet/mptet/uptet/rtet
maths pedagogy / bal vikas or shiksha shastra pdf notes in Hindi
नमस्कार दोस्तों , इस आर्टिकल में हमने  ” maths pedagogy / bal vikas or shiksha shastra pdf notes in Hindi ” के प्रश्नों का एक – एक करके संकलन किया है। साथ ही इस पीडीऍफ़ में हमने ” बाल विकास और शिक्षा शास्त्र ” के सभी topics को विषयवार cover किया है। इस नोट्स की विशेषता यह है , कि – इसमें आपको पढ़ने , समझने और याद करने में आसानी होगी। कियोकि इन नोट्स को आपके बालविकास एवं  शिक्षा – शास्त्र को समझने और याद करने की समस्याओं को ध्यान में रखकर बनाया गया है।



PART-6

1 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?


कथन – ” गणित ऐसी अमूर्त व्यवस्था का अध्ययन है , जो कि अमूर्त तत्वों से मिलकर बना है । इन तत्वों को अमूर्त रूप में परिभाषित किया गया है І 
(A) फ्रैंडसन
(B) मार्शल एच• स्टोन 
(C)  हरलॉक
(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग
(E) इनमे से कोई नहीं 

             उत्तर देखें   –      

 

 

 

 2 –  ”  गणित एक ऐसा विषय है , जिसमे हम यह भी नहीं जानते कि हम किसके बारे में बात कर रहे है और न ही यह जान पाते है ,कि हम जो कर रहे है वह सत्य है “

 

 

 (A) बर्ट्रेंड रसेल 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें   –




 3 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ” गणित वह भाषा है , जिसमे परमेश्वर ने संपूर्ण जगत या ब्रह्मांड को लिख दिया है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) गैलीलियो 

 (C)  हरलॉक

 (D) लॉरेन्स कोहलबर्ग

 

 (E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

उत्तर देखें   –                

 

 

 4 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ” गणित वह मार्ग है जिसके द्वारा बालको के मन या मस्तिष्क में तर्क करने की आदत स्थापित होती है “

 

 (A) लॉक 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

उत्तर देखें   – 




 

 

 5 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ”  गणित सभी विज्ञानों का सिंह द्धार या प्रवेश द्धार तथा कुंजी है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) रोजन बेकन 


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

उत्तर देखें   

 

 

 6 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ” गणित एक ऐसा विषय है , जो मानसिक शक्तियों को प्रशिक्षित करने का अवसर प्रदान करता है I एक सुसुप्त आत्मा में चेतना एवं नवीन जागृति उत्पन्न करने का कौशल गणित प्रदान कर सकता है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  प्लेटो 

 

 (D) थर्सटन 

(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें-  




 

 

 7 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?


कथन – ” गणित की  शिक्षा प्राथमिक रूप से मानसिक शक्तियों को प्रशिक्षित करने के लिए दी जाती है । गणित के विभिन्न तथ्यों का ज्ञान देना इसके बाद ही आता है “


(A) प्रोफेसर शल्ट्ज महोदय 

 

 (B) आइज्रनेक

 (C)  हरलॉक

(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


 (E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

उत्तर देखें-                           

 

 

 8 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ”  गणित मस्तिष्क को तीक्षण एवं तीव्र बनाने में उसी प्रकार से कार्य करता है , जैसे कि – किसी औजार को तीक्षण करने में काम आने वाला पत्थर “

 (A) आइज्रनेक

 (B) लॉरेन्स कोहलबर्ग

 (C)  हरलॉक

(D) हब्श 


 (E) इनमे से कोई नहीं 



 

 

उत्तर देखें-                       

 

 

 

 9 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन -”  गणित वह विज्ञान है , जिसमे आवश्यक  निष्कर्ष निकाले जाते है “

 

 (A) बेंजामिन पेरिक 

 

 (B) वुडवर्थ

 (C)  हरलॉक

 (D) लॉरेन्स कोहलबर्ग

 (E) इनमे से कोई नहीं 

 



 

उत्तर देखें                         

 

 

 10 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?


कथन – ” योजना एक उद्देश्य पूर्ण क्रिया है , जिसे मन लगाकर सामाजिक वातावरण में पूरा किया जाता है “

 

 (A) किलपैट्रिक 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


 (E) इनमे से कोई नहीं 

 

                            उत्तर देखें – 
               

11 – यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ” गणित शिक्षण का वास्तविक उद्देश्य ज्ञान प्राप्त करना नहीं है , वरन शक्ति प्रदान करना है “

 

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) डटन  

 (C)  हरलॉक

(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग






 (E) इनमे से कोई नहीं 

             उत्तर देखें   –                     

 

 12 –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

 कथन – ”  विधालयी जीवन में प्रथम 10 वर्षो में विज्ञान एवं गणित विषय सभी बच्चों को अनिवार्य रूप से पढ़ाये जाने चाहिए “

 (A) कोठारी आयोग 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


 (E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

उत्तर देखें   –                              

 


 13  –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  गणित की उन्नति तथा वृद्धि देश की संपन्नता से सम्बंधित है “

 

 (A) कॉल्विन 

 

 (B) नेपोलियन 

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 



उत्तर देखें   –                                    

 

 

 14 –  – ”  गणित – तर्क सम्मत विचार , यथार्थ  कथन तथा सत्य बोलने का  सामर्थ्य प्रदान करता है “

(A) कॉल्विन 

 

 (B) नेपोलियन 

(C)  डटन 

 (D) लॉरेन्स कोहलबर्ग

 (E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें   –                           

 

 15  –    ” गणित सभ्यता और संस्कृति का दर्पण है “

 

 (A) कॉल्विन 

 

 (B) नेपोलियन 

(C)  डटन 

 (D) हॉगवेन 

(E) इनमे से कोई नहीं

 

उत्तर देखें       

 



 

16  –   ”  गणित एक विज्ञान है , जिसकी सहायता से आवशयक निष्कर्ष निकाले जाते है ”

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C) पियर्स 


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें-                                    

 

 17  –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  मूल्यांकन एक ऐसी क्रमबद्ध प्रक्रिया है ,  जो हमे यह बताती है कि  बालक ने किस सीमा तक किन उद्देश्यों को प्राप्त किया है “

 

 (A) कॉल्विन 

 

 (B) डांडेकर 

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें   –                                    

 

 18  –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  मूल्यांकन एक ऐसी प्रक्रिया है , जिससे सही ढंग से किसी भी वस्तु  का मापन किया जा सकता है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) गुड्स 


(E) इनमे से कोई नहीं 




 

उत्तर देखें-                        

 

 19  –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  मूल्यांकन एक  सतत प्रक्रिया है तथा यह बालकों की औपचारिक शैक्षिक उपलब्धि की उपेक्षा करता है I यह व्यक्ति के विकास में अधिक रूचि रखता है l यह व्यक्ति के विकास में उसकी भावनाओं , विचारों तथा क्रियाओं से सम्बंधित व्यवहारगत परिवर्तनों के रूप में व्यक्त करता है “

 

 (A) मुफ्फात 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें                          

 

 20 –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  विश्सवसनीयता उस विश्वास प्रकट करती है , जो की एक परीक्षा में स्थापित की जा सकती है “

 

 (A) रिजलैण्ड 

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें – 
                

21   –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  वैधता वह सीमा अथवा विस्तार है , जिससे परीक्षा तब तक मापती है जब तक वह उसे मापना चाहती है “

 

 (A) कॉल्विन 

 

 (B) सी • बी • गुड 

(C)  हरलॉक


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

 



उत्तर देखें   –                    

                          

 22  –   ”  वैधता एक मापन साधन का मापने वाला गुण होती है , जिसे वह मापना चाहती है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C) रिजलैंड 


(D) लॉरेन्स कोहलबर्ग


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

उत्तर देखें-                                    

 

 

 23  –  यह कथन किस मनोवैज्ञानिक का है ?

कथन – ”  वैधता उस मात्रा की एक अभिव्यक्ति का नाम है , जहाँ तक एक परीक्षा उन गुणों ,योग्यताओं , कौशलों , तथा सूचनाओं को मापती  है , जिन्हे मापने के लिए वह वांछित होती है “

 

 (A) जीन पियाजे

 

 (B) वुडवर्थ

(C)  हरलॉक


(D) ग्रीन महोदय 


(E) इनमे से कोई नहीं 

 

 

                               उत्तर देखें-                        

error: Content is protected !!